एमिरेट्सएडिडास

अमानसियो अमानसियो अमरो वरेला

1962 · 1976
जन्म स्थान
ए कोरुना
जन्म का साल
16/10/1939

गेलसियन विज़ार्ड

पोजिशन: फॉरवर्ड
मैच खेले: 471 आधिकारिक और 97 फ्रेंडली मैच
गोल: 155 गोल अपने नाम किए
स्पेनिश इंटरनेशनल: 42 मैच खेले

वो राइट विंग के रूप में एक बेहतरीन खिलाड़ी थे, जो फुटबॉल को हमेशा एक शो के रूप में देखते थे। जब उन्होंने सैंटियागो बर्नब्यू पर
नज़रें टिकाई तो कोई उन्हें 1962 के मुकाबलों में रोक नहीं पाया।

उनकी खेलने की गति और स्किल ने फुटबॉल में नेशनल और इंटरनेशनल जगत में सबको हैरान कर दिया।  अमानसियो डेपोर्टिवो डी ला कोरुना टीम के एक स्टार खिलाड़ी थे जहां उन्होंने 1959 में प्रमोशन
हासिल किया। जब वो बदलाव के दौर में थे तो वो रियल मैड्रिड पहुंचे।

रयल मैड्रिड ने 1959 के दशक के अंत में लगातार पांच यूरोपीय कप
जीतकर खुद को यूरोप का राजा साबित किया। हालांकि उस दौरान कुछ खिलाड़ियों के सेवानिवृत्ति के बाद क्लब को विजेता टीम के तौर पर रखने के लिए कुछ बेहतरीन खिलाड़ियों की आवश्यकता थी इसलिए उन्होंने गैलिशियन विंगर के साथ-साथ जोको और मुलर जैसे खिलाड़ियों के साथ करार किया। उन्होंने अपने पहले सीज़न में लीग का खिताब अपने नाम किया। जिसके बाद उन्होंने 1966 में यूरोपीय कप जीतने का सम्मान हासिल किया। जो उन्होंने ब्रेसेल्स के हेसेल स्टेडियम में पार्टिसन बेलग्रेड को मात दी थी।

बता दें कि खेल की शुरूआत यूगोस्लावियन टीम के लिए एक गोल के साथ हुई थी, लेकिन अमानसियो और सेरेन के गोल ने रियल मैड्रेड को यूरोप का चैंपियन बना दिया। इसके साथ ही उन्होंने 1964 में स्पेन के साथ यूरोपीय चैंपियनशिप का खिताब भी जीता था, जो किसी राष्ट्रीय टीम के लिए पहला खिताब था।

बता दें कि अमानसियो ने सेवियत संघ के खिलाफ फाइनल में सैंटियागो बर्नब्यू में (घरेलू मुकाबले) में यह खिताब जीता था। गैलेशियन ने विंग पर कब्जा किया और मार्सेलिनो के गोल से स्पेन ने एक यादगार जीत हासिल की। अगली पीढ़ी के लिए सुनहरी विरासत अमानसियो को एक ऐसे व्यक्ति के रूप में भी जाना जाता है, जिसने "क्विंटा डेल ब्यूत्रे;
(;वल्चर स्क्वाड्रन;) को एक अलग मुकाम दिया था।

गैलेशियन ने रिजर्व टीम के कोच के रूप में क्लब के लिए (खासकर प्रतिभाशाली पीढ़ी) एक शानदार उपलब्धि हासिल की। साथ ही कैस्टिया ने सेकंड डिवीजन चैंपियनशिप का खिताब भी अपने नाम किया। जो रियल मैड्रिड के लिए एक सुनहरे युग की महज एक शुरुआत थी।

कैस्टिया के साथ उनका कार्यकाल शानदार रहा और बटरगनो, मार्टिन वाज़क्वेज़, सांची व परडेज़ा वाई मिसेल ने उन्हें 1984-1985 सीज़न में सात महीनों के लिए टीम का कोच बनाने का मौका दिया। इसके साथ ही उन्होंने लुईस मोलोन्ये द्वारा हासिल की गई सफलता की नींव रखी।

अमानसियो ने कोच के रूप में अपनी जिम्मेदारी छोड़ने के बाद अलग-अलग क्लब में काम किया। सबसे पहले उन्होंने एक स्काउट के रूप में काम किया फिर फ्लोरेंटिनो पेरेज़ के तहत बोर्ड के सदस्य के रूप में और उसके बाद रियम मैड्रिड शताब्दी के लिए आयोजक के रूप में  काम किया।


सम्मान

9 लीग्स
3 स्पेनिश सुपर कप
1 यूरोपी लीग

Search