एमिरेट्सएडिडास

1941-1950

विभिन्न खेल के खिलाड़ियों की मदद से रियल मैड्रिड ने 1942 और 1944 के बीच तीन बार कैस्टिला चैंपियनशिप जीतने में सफलता हासिल की। यह पहली बार था, जब टीम अपने विरोधियों पर पूरी तरह हावी थी। स्पेनिश बास्केटबॉल पहले से ही एक टीम के रूप में स्थापित था, जहां वास्तव में रियल मैड्रिड कुछ बेहतरीन लम्हों के इंतज़ार में थी और वह समय आ गया।

स्पेन में उस समय चल रहे सिविल वार की वजह से बास्केटबॉल खेल काफी समय के लिए प्रभावित हुआ और फिर वार खत्म होने के बाद रियल मैड्रिड और रेयो ने अपने मुकाबले फिर से शुरू किए। 1940 के दशक में भाई पेड्रो और एमिलियो अलोंसो अपने चचेरे भाई क्लाउडियो के साथ रियल मैड्रिड में शामिल होने के लिए दूसरे शहर चले गए।
 
अलोंसो, जो मूल रूप से क्यूबा के थे। वह रियल मैड्रिड के लिए एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी के रूप में थे, क्योंकि टीम ने उनके साथ तीन कैस्टिला चैंपियनशिप (1942, 43 और 44)  हासिल किए थे। वहीं, क्लब ने फिर इतिहास दोहराते हुए तीन कास्टिला चैंपियनशिप (1948, 49 और 50) दशक के आखिर में हासिल किया। इसी के साथ बास्केटबॉल टीम स्पेन में एक महाशक्ति के रूप में सामने आई।
 

1941 - 1950
  1. रन फॉर इट

    रियल मैड्रिड खिलाड़ी 1940 में कैंपोनाटो डे कैस्टिला में काउंटर अटैक के रूप में खेलना शुरू किए।

  2. रनर-अप इन दी कप

    1940 में रियल मैड्रिड ने एस्पनयोल के खिलाफ कोपा डेल जनरलसिमो के फाइनल में खेला था।

  3. कैस्टिला के तीन खिताब

    पेड्रो (नं. 3) और एमिलियो अलोंसो (शीर्ष दाएं) के आने के साथ ही रियल मैड्रिड ने 1942, 43 और 44 में कैंपोनाटो डी कैस्टिला खिताब अपने नाम किया था।

  4. एक बार फिर से बेहतरीन प्रदर्शन

    1947 में रियल मैड्रिड ने कैम्पोनेंटो रीजनल खिताब हासिल किया और अगले दो वर्षों में यह खिताब फिर जीते।

Siguiente Anterior

प्रवासी खिलाड़ी

इस अवधि के दौरान बहुत से दिग्गज़ खिलाड़ी फिलीपींस, क्यूबा और प्यूर्टो रिको से यहां आए। प्रवासियों के बच्चे बास्केटबॉल खेलने के लिए मैड्रिड में विश्वविद्यालय में चले गए। यह देखने के लिए कि इस खेल का आविष्कार संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा में हुआ था, जहां इसे विकसित किया गया था। इसके साथ ही यह अन्य देशों में पहुंचा, जहां स्पेन और उत्तरी अमेरिका के संबंध काफी मजबूत थे। यहां कई खिलाड़ियों ने क्लब के पहले खिताब को हासिल करने के लिए अपना अहम योगदान दिया था। जिसमें जुआन कैस्टेल्वि, एडी हर्नांडेज़-विलामिल, कैमो फिलिपिनो, फ्रेडी बोर्रस, प्यूर्टो रिकान शामिल थे। इसके साथ ही एमिलियो और क्लाउडियो अलोंसो भी शामिल थे, जो क्यूबा में पेड्रो के बास्क माता-पिता के रूप में जन्मे थे।
 

महिलाओं की टीम भी सफल रही

1934 में रियल मैड्रिड क्लब ने महिला बास्केटबॉल टीम का उद्घाटन किया। महिला खिलाड़ियों द्वारा शुरु में इस खेल में कुछ अलग नियमों के साथ खेला गया था। जहां पांच के बजाय छह खिलाड़ी, एक कोर्ट तीन ज़ोन में विभाजित थी, जिसकी पहुंच खिलाड़ी की स्थिति पर निर्भर थी, और एक समय में गेंद के केवल एक बाउंस पर प्रतिबंध था। रियल मैड्रिड की महिला टीम ने अपने शुरुआती वर्ष में कैस्टिला चैम्पियनशिप का खिताब अपने नाम किया और 1943 में कैस्टिला चैम्पियनशिप को हासिल करने के साथ ही टीम ने स्पेन में रनर-अप के तौर पर मुकाबला समाप्त किया। हालांकि 1944 में इस टीम को भंग कर दिया गया था।

सम्मान

कास्टाइल चैम्पियनशिप - 6

कास्टाइल चैम्पियनशिप

6
Siguiente Anterior
Search