एमिरेट्सएडिडास
Barça-Real Madrid

83-88: सुपर कप चैंपियन

गैलरी देखेंसभी वीडियो

मैच रिपोर्ट | 12/09/2021 | एडु बुएनो | PHOTOGRAPHER: विक्टर कैरेटेरो (टेनेरिफ)

टेनेरिफ में फाइनल में बार्का के खिलाफ 19 प्वाइंट की वापसी के बाद रियल मैड्रिड ने इस प्रतियोगिता में अपना आठवां खिताब जीता। सर्जियो लुल ने 24 प्वाइंट हासिल करते हुए इस मैच में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी और उन्हें एमवीपी (सबसे बेहतरीन खिलाड़ी) नामित किया गया था।
  • सुपर कप
  • फाइनल
  • Sun, 12 Sep
पाबेलन इंस्युलर सैंटियागो मार्टिन
83
88
टेनेरिफ में फाइनल में बार्का को हराने के बाद रियल मैड्रिड को उसके शानदार इतिहास में आठवीं बार स्पेनिश सुपर कप चैंपियन का ताज पहनाया गया। इस पूरे ही टूर्नामेंट में रियल मैड्रिड ने अपना दबदबा बनाए रखा। हमारी टीम ने 2018 से हर साल और पिछली दस में से सात प्रतियोगिता जीती हैं। 25वें मिनट में 19 प्वाइंट से पीछे चल रही लासो की टीम ने एक बार फिर शानदार वापसी की। इसके बाद अगले 15 मिनट में खेल का रुख बदलते हुए स्कोर 39-18 कर दिया। इस मैच में सर्जियो लुल ने शानदार प्रदर्शन किया। 24 प्वाइंट लेने और 27 का पीआईआर होने की वजह से उन्हें टूर्नामेंट में एमवीपी (सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ी) चुना गया। उनके अलावा अलोसेन (11) ने भी इस जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इसकी बदौलत टीम ने सीज़न का पहला खिताब और लासो के सानिध्य में 21 वां खिताब जीता।

पहले क्लासिको मुकाबले की शुरुआत बहुत अच्छी नहीं हुई, क्योंकि तेज़ खेल खेलने वाली दोनों ही टीमें अटैक के मामले ढीली नज़र आ रही थीं। वह भी सीज़न के इस पड़ाव पर पहुंचकर दोनों टीमों का ऐसा प्रदर्शन अजीब लग रहा था। रियल मैड्रिड के अच्छा खेल दिखाने से पहले बार्का ने लगातार 4 थ्री प्वाइंटर्स के साथ शुरुआती मिनटों में बढ़त हासिल कर ली। डेविस के साथ टकराने की वजह से मैच से बाहर होने से पहले एलोसेन ने सेंटर स्टेज से खेलते हुए धीरे-धीरे कोर्ट के दोनों किनारों से टीम को काफी मज़बूत स्थिति में पहुंचा दिया। प्वाइंट गार्ड ने 5 अंक की कमी को खत्म करने के लिए लगातार 2 थ्री-प्वाइंटर्स लिए। पोइरियर का डिफेंस काफी अच्छा था और टीम ने तब तक अपना ज़ोर लगाना जारी रखा जब तक कि 11वें मिनट पर स्कोर 23-24 नहीं पहुंच गया।

फॉर्म डगमगाई
मैच दूसरे क्वार्टर में थोड़ा धीमा हो गया। लासो और जसिकेविकस दोनों बेंच पर चले गए। ओरिओला (11 अंक) और लुल (8) ने आक्रामक खेल खेलते हुए बढ़त को बरकरार रखा और दोनों ही टीमें हर मामले में एक-दूसरे से बराबर नज़र आ रही थीं। पहले हाफ के अंतिम चरण में रेफरी के कई निर्णयों की वजह से मैड्रिड थोड़ा अधिक बराबरी की स्थिति में पहुंच गई। दरअसल कई पर्सनल फाउल हुए, जिसमें कॉसियर पर लगाया गया एक टेक्निकल फाउल भी शामिल था। इस बराबरी का कैटलन के पक्ष ने फायदा उठाया और वे ब्रेक से पहले 46-40 का स्कोर करने में सफल रहे।

रियल मैड्रिड ने पिछले 4 सुपर कप जीते हैं।

तीसरे क्वार्टर में भी मैड्रिड अच्छी शुरुआत नहीं कर सका। बार्का ने धीमी गति और निरंतर प्रयास के साथ बेहतर रूप से अपने खेल को आगे बढ़ाया। वे अटैक में बहुत ही धीमे थे, 5 मिनट के खेल में उन्होंने सिर्फ 4 प्वाइंट ही हासिल किए। दूसरी ओर उनके विरोधी खिलाड़ी तेज़ अटैक कर रहे थे। कैलाथेस और मिरोटिक ने आसानी से 25 वें मिनट (63-44) में 19 अंकों का बड़ा अंतर बनाने के लिए तेज़ स्कोरिंग की। लुल और एलोसेन के मैच में शामिल होने पर खेल में अधिक गति दिखाई दी और उन्होंने टीम की प्रतिस्पर्धात्मक भावना को जगा दिया। कप्तान ने अपने पूरे कौशल के साथ अपनी टीम को आगे बढ़ाया। उन्होंने अंतिम क्वार्टर की शुरुआत में 13 प्वाइंट लेते हुए नुकसान को कम करने के साथ स्कोर 73-66 कर दिया।

चैंपियंस ने जीतने की ओर बढ़ाया कदम
खेल का रुख बदल गया था, अब मैड्रिड की टीम बार्का खिलाफ बढ़त हासिल कर चुका था। इसकी बड़ी वजह हिगिंस थे। लुल ने कैटलन के लिए मुश्किल बढ़ाने के लिए शानदार अटैक के साथ डिफेंस मजबूत रखा। इसके अलावा अलोसेन, विलियम्स-गॉस और पोइरियर ने आक्रामक खेल में मिलकर शानदार डिफेंस करते हुए अपने विरोधियों रिबाउंड के बाद दूसरा मौका लेने की गुंजाइश खत्म कर दी। लासो के खिलाड़ी शानदार फॉर्म में थे। हालांकि, विलियम्स-गॉस के थ्री-प्वाइंटर्स और याबुसेले के दो फ्री थ्रो ने 81-83 पर अविश्वसनीय वापसी की और एक या डेढ़ मिनट बाकी होने के साथ ही उन्होंने 39-18 के लम्बे खेल के बाद वापसी की। खेल अभी बाकी था, इसलिए रियल मैड्रिड ने एक और खिताब जीतने का मौका अपने हाथ से जाने नहीं दिया। यह जीत उनके इतिहास का हिस्सा बन गई। इससे सबक मिलता है कि अंत तक विश्वास बनाए रखो। डेविस ने अंतिम मिनट के खेल में जाने से पहले स्कोर 83 प्वाइंट पर बराबर कर दिया। इसके बाद मैड्रिड ने विरोधी टीम को कोई मौका नहीं दिया। पोइरियर के दो फ्री थ्रो, एक एलोसेन का फ्री थ्रो और और याबुसेले के दो फ्री थ्रो की बदौलत टीम ने 26-11 के खेल प्रदर्शन के साथ अंतिम क्वार्टर में दमदार खेल दिखाया। इसके चलते रियल मैड्रिड ने शानदार जीत (83-88, मिनट 40) हासिल की। और उन्होंने यह मैच रूडी, थॉम्पकिंस और रैंडोल्फ जैसे खिलाड़ियों के बिना अपने नाम किया।

Search