एमिरेट्सएडिडास
contenido

रियल मैड्रिड प्रतियोगिता में अपना दबदबा बनाए रखा।

इस पक्ष ने विलारियल के ख़िलाफ़ लगातार दसवीं जीत दर्ज करते हुए ख़िताब को अपने नाम किया। 

 

जुलाई16, 2020 को रियल मैड्रिड ने अपने 34वें लालीगा ख़िताब पर कब्ज़ा जमाया। टीम ने मैच के 37वें दिन अल्फ्रेडो डी स्टेफ़ानो में विलारियल को 2-1 से हराकर ट्रॉफी उठाई। COVID-19 महामारी की बाधा के बाद ज़िदान के खिलाड़ियों ने एक अद्भुद घरेलू चैंपियनशिप हासिल की|
 
मैड्रिड ने बार्सिलोना से चार अधिक अंक हासिल करते हुए आगे  प्रवेश किया। विलारियल पर घर में जीत हासिल करते हुए खिताब को सुरक्षित अपने नाम किया। जिसके बाद बेन्ज़ेमा ब्रेस की मदद से टीम ने कोई गलती नहीं की और लॉकडाउन के बाद लगातार दसवां मुकाबला जीतने में कामयाब हुई। 

 

बेन्ज़ेमा सबसे अधिक गोल करने वाले खिलाड़ी रहे|

खेल के समापन के बाद स्क्वाड ने डी स्टेफ़ानो की पिच पर खिताबी जीत का जश्न मनाया। कप्तान सर्जियो रामोस ने ट्रॉफी उठाई और लालीगा के बारे में कहा, "कड़ी मेहनत, निरंतरता और हमारे द्वारा दिखाए गए संतुलन की मेहनत का ये पुरस्कार हमें मिला है"। इसी बीच ज़िदान, जिन्होंने टीम के कोच के रूप में अपना ग्यारहवां खिताब हासिल किया,  ट्रॉफी जीतने पर कहा: "लालीगा को जीतना बहुत मुश्किल है, यह हमारे लिए एक बड़ी उपलब्धि है, साथ ही यह अविश्वसनीय रूप से भावनात्मक भी है"। इसके बाद राष्ट्रपति फ्लोरेंटिनो पेरेज़ ने स्क्वाड को बधाई देते हुए कहा "यह लालीगा ख़िताब अद्भुद है और बेहद कठिन परिस्थितियों में जीता गया है"।
 
इस स्थिति के बावजूद कि अभ्यस्त समारोहों पर अंकुश लगाया गया था, मैड्रिड सिटी हॉल ने खेल के बाद सिबेल्स फाउंटेन के ऊपर मद्रिदस्ता ध्वज को लपेटकर चैंपियन को श्रद्धांजलि दी। फिर उसके अगले दिन रियल मैड्रिड सिटी ने लालीगा की सफ़लता का जश्न मनाते हुए एक संस्थागत कार्यक्रम में मेज़बान की भूमिका निभाई| जिसमें राष्ट्रपति फ्लोरेंटिनो पेरेज़,  रियल मैड्रिड स्क्वाड, मैड्रिड के समुदाय के राष्ट्रपति, इसाबेल डीयाज़ अयुसो और शहर के मेयर जोस लुइस मार्टिन-अल्मेडा भी शामिल हुए।

बतौर रियल मैड्रिड कोच ज़िदान ने अपना ग्यारहवां खिताब जीता।

रियल मैड्रिड इस लीग की सबसे अच्छी टीम थी जहाँ उन्हें उनके  घर पर अंत तक की हरा नहीं पाया। उन्होंने न केवल घर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन किया, बल्कि उन्होंने इस तालिका में सबसे अधिक अंक भी हासिल किये। उनकी सफ़लता की एक और कुंजी उनकी रक्षात्मक योजना थी जिसने प्रतियोगिता में कम से कम संख्या में गोल खाते हुए खिताब पर कब्ज़ा जमाया। कोर्टोइस ने ज़मोरा ट्रॉफी पर कब्ज़ा जमाया और अटैक करते हुए व्यावहारिक रूप से पूरे स्क्वाड के स्कोरिंग प्रयासों विशेष रूप से रियल मैड्रिड के शीर्ष स्कोरर बेन्ज़ेमा (21 गोल) को बाहर रखा। 

Search