एमिरेट्सएडिडास
  1. खिलाड़ी हेसेल रियल मैड्रिड के छठे यूरोपियन कप का हिस्सा थे
  2. गेंटो, छह यूरोपियन कप का खिताब जीतने वाले एकमात्र खिलाड़ी थे

1961-1970

टीम परिवर्तन के दौर से गुजर रही थी। स्पेन में यह सबसे बढ़िया टीम थी, उन्होंने आठ लीग चैंपियनशिप जीती थीं। पांच लगातार जीती थीं जिसमें लीग-कप डबल भी शामिल था। विदेश में जाकर उन्होंने 'ये ये' टीम के साथ छठा यूरोपियन कप जीता

1961-62 सीज़न में, रियल मैड्रिड ने फिर से कमाल का प्रदर्शन किया। इस दौरान उन्होंने लीग और कप डबल जीते, और यूरोपीय कप में उपविजेता रहे। 18 मार्च 1962 को, मैड्रिड ने दो मैच पहले ही अपने स्टेडियम में एक और खिताबी जीत हासिल की। 8 जुलाई 1962 को, मैड्रिड ने कप फाइनल में सेविला को 2-1 से हराया।
 
वे स्पेन और यूरोप के किंग थे। 11 मई 1966 को, रियल मैड्रिड ने पार्टिज़ान (2-1) को हराया और एक बार फिर यूरोप के चैंपियन का ताज अपने नाम किया। डि स्टेफेनो और पुस्कस के बिना, सबसे अनुभवी खिलाड़ी गेंटो थे। बाकी टीम में अरक्विस्टीन, पाचिन, पेड्रो डी फेलिप, सांची, पिर्री, ज़ोको, सेरेना, अमानसियो, ग्रोसो और वेल्ज़ेक थे। अपना छठा यूरोपियन कप जीतने के बाद, चारों खिलाड़ियों ने बीटल्स की नकल करते हुए तस्वीरें खिंचवाईं। तब उन्हें अंग्रेजी ग्रुप के गाने 'शी लव्स यू' के कोरस के कारण 'ये-ये' मैड्रिड के रूप में जाना जाने लगा।

1961 - 1970
  1. पहला इंटरकांटिनेंटल कप टाइटल

    रियल मैड्रिड ने उरुग्वे की टीम पनेरोल को हराकर प्रतियोगिता में अपना पहला खिताब जीता।

  2. 'ये-ये' यूरोपियन कप जीत

    मिगुएल मुनोज़, सैंटियागो बर्नब्यू और गेंटो ख़ुशी से क्लब के छठे यूरोपियन कप खिताब के साथ पोज़ देते हुए।

  3. ब्रजास के लोग चैंम्पियन को बधाई देने के दौरान मदहोश हो जाते हैं

    प्रशंसकों ने क्लब की छठी यूरोपियन कप जीत के बाद रियल मैड्रिड टीम को बधाई देने के लिए हवाई अड्डे में हुजूम लगा दिया।

  4. पिरी, मैड्रिड की नई टीम का चेहरा

    यह सेंट्रल मिडफील्डर ये-ये टीम के बड़े दिग्गजों में से एक है, जिसने यूरोपियन खिताब पर फिर से दावा पेश किया।

Siguiente Anterior

'जादूगर' का जादू

बर्नाब्यू को एहसास हुआ कि अगर उन्हें शीर्ष पर रहना है तो टीम को कुछ नए चेहरों की ज़रूरत है। 1962 में उन्होंने 22 वर्षीय गैलिशियन स्ट्राइकर को साइन किया। एमेनिको अमारो, 'द विजार्ड', डेपोर्टिवो डी ला कोरुना को प्रिमेरा डिविज़न में पहुंचाने वाला मुख्य खिलाड़ी था। रियल मैड्रिड में उनके आगमन के साथ ही मिगुएल मुनोज़ के वह एक नियमित स्टार्टर बन गए, जिसके चलते राइट विंगर को अपनी तरह से खेल खेलने का मौका मिला और अपने शानदार प्रदर्शन से मैड्रिड के वफादार बन गए।

The magic of 'The Wizard'

रियल मैड्रिड की यूथ एकेडमी का होम

एक क्लब स्पोर्ट्स सेंटर के अपने सपने को पूरा करते हुए, सैंटियागो बर्नाब्यू ने 18 मई 1963 को स्यूदाद डेपोर्टिवा खोला। यह एक स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स था जिसमें फुटबॉल पिच, एथलेटिक्स ट्रैक और टेनिस कोर्ट थे। कुछ ही समय बाद एक बास्केटबॉल कोर्ट, स्विमिंग पूल और एक आइस स्केटिंग रिंक खोले गए। एवेंडिना डे ला कास्टेलाना पर कमाल की सुविधा की बहुत प्रशंसा की गई थी। इसने क्लब की संपत्ति को बढ़ाया और भविष्य के सितारों को रियल मैड्रिड  की युवा अकादमी में लाया।

The home of the Whites' youth academy

एडियोस ने कहा 'ब्लॉन्ड डार्ट'

रियल मैड्रिड में प्रशंसकों को 11 सीजन तक खुश करने के बाद, अल्फ्रेडो डि स्टेफेनो ने मैड्रिड के फैंस को अलविदा कहा। 27 मई 1964 को उनके अंतिम आधिकारिक मैच के साथ उनका एक असाधारण करियर समाप्त हो गया। तीन साल बाद, उन्हें सेल्टिक फुटबॉल क्लब के खिलाफ टेस्टिमोनियल मैच खेलने का मौका दिया गया। 13वें मिनट में, मैड्रिड के आदर्श स्टेफेनो ने अपने कप्तान के आर्मबैंड को उतारा और ग्रोसो को सौंप दिया। बर्नाब्यू ने उन्हें अलविदा कहा और खड़े होकर उनका अभिवादन किया। उन्होंने अपने करियर के दौरान रियल मैड्रिड के लिए 308 गोल ठोके।

लगातार पांच लीग

क्लब में इन्वेस्टमेंट का नतीजा ये रहा कि बेहतर परिणाम लगातार मिलते रहे। 18 अप्रैल 1965 को मैड्रिड ने अपना लगातार पांचवा ला लीगा खिताब जीता। यह क्लब के इतिहास में पहली बार था जब लगातार पांच खिताब जीते गए थे। उस सीज़न (1964-65) टीम के शुरुआती खिलाड़ी जो बाद में येये के नाम से जाने गए उन्होंने क्लब ज्वाइन किया: ग्रोसो, पेरी, सांचिज और डे फेलिपे।

पुरस्कार

यूरोपियन कप - 1

यूरोपियन कप

1
लिगास - 8

लिगास

8
स्पेनिश कप - 2

स्पेनिश कप

2
Siguiente Anterior
Search