LazoGanadores de Champions LeagueOtro
  1. बर्नब्यू ने नुवो चमार्टिन के लिए अपना मैदान को तोड़ दिया
  2. प्रशंसकों ने कोपा में जीत का जश्न मनाया

1941-1950

इस समय साफ हो गया कि रियल मैड्रिड भविष्य में बड़ी टीम के रूप में उभरेगी और साथ ही बार्सिलोना के साथ प्रतिद्वंदिता भी यहीं से बढ़नी शुरू हुई। चमाराटिन स्टेडियम को फिर से बनाया जाना था और नई टीम को इकट्ठा करते हुए कंपटीशन के लिए तैयार करना था। वैसे सैंटियागो बर्नाब्यू के संयम की बदौलत हर चीज आराम से हो गई। इसी दशक में आधार बना जिसने आने वाले सालों में 20वीं सदी के सबसे बेहतरीन क्लब की नींव रखी।

रियल मैड्रिड सिविल वॉर (1936-39) के असर को कम करना चाहता था जिसकी वजह से उसके पास कुछ चर्चित चेहरे नहीं रहे। कुछ महत्वपूर्ण खिलाड़ी टीम में लाए गए जैसे प्रुडन, कोरोना और बेनन। 1943 में कप के सेमीफाइनल में, रियल मैड्रिड का सामना बार्सिलोना से हुआ। लेस कोर्ट्स में बार्सिलोना ने मैच 3-0 से जीता। रिटर्न मैच में, रियल मैड्रिड ने अपनी विपक्षी टीम को अपने शानदार वापसी के सामने ठहरने नहीं दिया। मैड्रिड ने 11-1 जीता, और एक कभी ना खत्म होने वाली प्रतिद्वंदिता शुरू हुई।
 
15 दिसंबर 1943 को, सैंटियागो बर्नाब्यू क्लब के प्रेसिडेंट बने। यह लेजेंडरी शासनादेश की शुरुआत थी जिसमें क्लब ने कुछ बहुत बढ़िया काम किए। उन्होंने सभी क्लबों को जोड़वे का फैसला लिया। 1948 में उन्हें उनके कमाल के काम और सोसियाडाड रियल मैड्रिड क्लब डे फुटबॉल को बेहतर बनाने के प्रयासों के लिए  प्रेसिडेंट ऑफ ऑनर और मेरिट ऑफ द वॉइट से नामित किया गया। 
 
रियल मैड्रिड ने वेलेंसिया का फाइनल में सामना 9 जून 1946 को किया। 10 साल बाद टीम ने कोपा डे एस्पाना जीता। मोंटजुइक स्टेडियम में रियल मैड्रिड ने गेम में शुरुआत से पकड़ मजबूत की, वालेंसिया को 3-1 से हराया, और कप को एक और बार जीता। मैड्रिड के मेयर ने स्पोर्ट्स मेडल आइपिना को पेश किया। वह 237वें मैच का हिस्सा बन रहे थे। हर खिलाड़ी को चमड़े का पर्स मिला और एक हजार पेसेटा (6€) इनाम के तौर पर मिले।

1941 - 1950
  1. 1945-46 सीजन के दौरान रियल मैड्रिड के खिलाड़ी

    इस कैंपेन के दौरान रियल मैड्रिड ने अपना आठवां कप टाइटल जीता।

  2. खिलाड़ी जिन्होंने चामारटिन का उद्घाटन किया

    बाएं से दाएं खड़े हुए: आइपिना, विडाल, ह्यूटे और जीसस अलोंसो। घुटने के बल बैठे हुए: पोंट, क्लेमेंटे, कोरोना और मोलोउनी।

  3. 1945-46 सीजन के दौरान रियल मैड्रिड के खिलाड़ी

    इस कैंपेन के दौरान रियल मैड्रिड ने अपना आठवां कप टाइटल जीता।

Siguiente Anterior

एक सपना सच हुआ, न्यूवो चमारटिन स्टेडियम

कई सारे सदस्यों, फैंस और प्रेसिडेंट के लिए चमारटिन बहुत छोटा था। सैंटियागो बर्नाब्यू चाहते थे कि उनका क्लब यूरोपियन फुटबॉल में सबसे शानदार हो। 30 महीने के निर्माण के बाद, 14 दिसंबर 1947 को न्यूवो चमारटिन स्टेडियम खोला गया। इस मैदान का उद्घाटन ऑस बेलेंनसिम के खिलाफ एक दोस्ताना मैच के साथ हुआ था और इसका पहला ला लीगा मैच एथलेटिक डी बिलबाओ के खिलाफ था जिसे उन्होंने 5-1 से जीता।

A dream come true, the Nuevo Chamartín stadium

रियल मैड्रिड न्यूज़लेटर

नुवो चमारिन में टीम की जीत के साथ, प्रशंसकों के बातचीत करने की जरूरत महसूस हुई। 1 सितंबर 1950 को रियल मैड्रिड न्यूज़लैटर की शुरुआत हुई। फ्रंट पेज में बर्नाब्यू का एक संदेश था: “मुझे आशा है कि यह मैड्रिड न्यूज़लैटर एक बड़ी सफलता साबित होगा। एक पुराने व्यक्ति से सलाह: अपने दोस्तों को पास रखो, लेकिन अपने दुश्मनों को और भी करीब रखो। मैरेनगस के लिए बधाई ”।

पुरस्कार

स्पेनिश कप - 2

स्पेनिश कप

2
Siguiente Anterior
Search