एमिरेट्सएडिडास

1931-1940

रिकार्डो जामोरा के आने के बाद टीम में सिरिआको और क्विंनसोसेस भी आए। ये तिकड़ी दुनिया की सबसे बेहतरीन डिफेंस थी। नतीजा ये रहा कि आने वाले सालों में टीम ने चार खिताब अपने नाम किए (दो ला लीगा में और दो कोपा में)। मैड्रिड का विजेता टीम के रूप में बीज बोया जा चुका था। लेकिन सिविल वॉर होने से चीजें थम सी गईं।

रियल मैड्रिड ने इस बात को अब कबूल कर लिया था कि उन्हें कामयाबी सिर्फ अच्छे खिलाड़ियों के जरिए ही मिलेगी। जामोरा, सिरियाको, क्विंनसोसेस वे खिलाड़ी थे जो ट्रॉफी जिताने में अहम भूमिका निभा रहे थे। 1931-32 सीजन लिपो हेरजा टीम के लिए शानदार रहा। मैड्रिड ने लीग अजेय चैंपियन के तौर पर खत्म की। यह मैड्रिड के प्रभुत्व के समय की शुरुआत थी।
 
लेटेस्ट कप जीत (1936) के एक महीने बाद ही, सिविल वॉर शुरू हो गया। रियल मैड्रिड का प्रभुत्व अब खतरे में था और जंग की वजह से अब यह छोटा गया। इसकी वजह से कई खिलाड़ियों का करियर खत्म हो गया और कइयों को निर्वासित होना पड़ा। सिविल वॉर खत्म होने तक टीम एक नहीं हो सकी।

1931 - 1940
  1. रिकॉर्डो जामोरा का कमाल का सेव

    रियल मैड्रिड के गोलकीपर ने क्लब के लिए कुछ शानदार प्रदर्शन किए। उनके सेव ने उन्हें फुटबॉलिंग इतिहास में जगह मिली। ऑरिजिनल मेस्टाला के फाइनल में उन्होंने एस्कोला को रोके रखा और अपनी टीम की मैच में मजबूत पकड़ बरकरार रखने में अहम भूमिका निभाई।

  2. रिकॉर्डो जामोरा गेंद को अपने कब्जे में करने के लिए डी के बाहर आए

    रियल मैड्रिड के गोलकीपर को विपक्षी खिलाड़ियों ने चारों ओर से घेर लिया था। ऐसे हालातों में वह गेंद को अपने कब्जे में करने के लिए डी के बाहर आए। ये बात 1930 के दशक की है।

  3. पुराने प्रतिद्वंदी के खिलाफ कप जीतने वाले (1936)

    रियल मैड्रिड और बार्सिलोना ने 21 जून 1936 को वालेंसिया के मैदान पर एक दूसरे से दो-दो हाथ किए। मैड्रिड ने फाइनल 2-1 से जीता और क्लब को उसका चौथा स्पेनिश कप टाइटल दिलाया।

  4. 17 सालों में पहली बार कप विजेता

    रियल मैड्रिड ने वालेंसिया को फाइनल में हराने के साथ 1934 में मोंटजुइक के मैदान पर स्पेनिश चैंपियनशिप जीती। इसके पहले रियल मैड्रिड 1917 से टाइटल नहीं जीती थी।

Siguiente Anterior

ज़ामोरा, एक लेजेंड पैदा हुआ

स्पेनिश फुटबॉल में कमाल के बूम का मतलब था कि कुछ खिलाड़ी नए खिलाड़ियों के लिए आदर्श बन रहे थे। इसका सबसे बढ़िया उदाहरण रियल मैड्रिड में स्टिक्स के बीच देखा जा सकता थाय़ 1936 के कोपा के फाइनल ने रिकार्ड जामोरा को स्टार बना दिया जिसने रियल मैड्रिड को बार्सिलोना के खिलाफ जीत में अहम भूमिका निभाई थी। उनका एस्कोला के कमाल के शॉट को सेव करना, स्पेनिश फुटबॉल के इतिहास में हमेशा-हमेशा के लिए दर्ज हो गया।

पुर्ननिर्माण के लिए सभा (1939)

जिस तरह की समस्याओं में क्लब सिविल वॉर शुरू होने की वजह से घिरा हुआ था उन्हें निपटाने के लिए 19 अप्रैल को पेड्रो पारागेस ने सभा बुलाई। टूट-फूटे स्टेडियम और बिखरी हुई टीम को देखते हुए चीजें ठीक नहीं लग रही थीं। एडॉल्फ मेलेंडेज़ को नया प्रेसिडेंट बनाया गया और रियल मैड्रिड खुद को फिर से संवारने में लग गया। इस हिसाब से देखें तो फर्श से अर्श की ओर।

पुरस्कार

लिगास - 2

लिगास

2
स्पेनिश कप - 2

स्पेनिश कप

2
क्षेत्रीय चैंपियनशिप - 3

क्षेत्रीय चैंपियनशिप

3
मानकोमुनाडोस  ट्रॉफी - 5

मानकोमुनाडोस ट्रॉफी

5
Siguiente Anterior
Search