मॉन्जार्डिन

मॉन्जार्डिन

1919 - 1929

  • पूरा नामजुआन मॉन्जार्डिन
  • जन्म स्थानए कोरुना (स्पेन)
  • जन्म तिथि24/04/1903
  • पूरा नामजुआन मॉन्जार्डिन
  • जन्म स्थानए कोरुना (स्पेन)
  • जन्म तिथि24/04/1903

रिशियल फॉरवर्ड

पोजीशन: सेंटर फॉरवर्ड
मैच:
73
गोल: 55
स्पेनिश अंतरराष्ट्रीय: 4 मैच

घर में पले-बढ़े और मेड्रिड के फैन रहे, उन्होंने रियाल मेड्रिड की जीतने वाली मानसिकता का किसी और की तुलना में बेहतर प्रतिनिधित्व किया। उनके पास से गेंद ले जाना टेढ़ी खीर थी इसीलिए वह टीम के लिए किसी दीवार की तरह थे।

वह एक रिशियल सेंटर फॉरवर्ड थे, गोल पर उनका शानदार हेडर, साथ ही एक वह गजब का जोर लगाते थे जो ताकत के मामले में उनका
कोई सानी नहीं था। उनका दाहिना पैर कमाल का था, जिसके सहारे उन्होंने कई गोल मारे।

जुआन मॉन्जार्डिन, कोलीगियो डि नुएस्ट्रा सेनोरा डेल पिलर की युवा टीमों में जगह बनाई, इसे महान फुटबॉलरों का घर कहा जाता है। उस समय वह उन सभी मैचों में खेले जो रियाल मेड्रिड ड्यूक डे सेस्टो फुटबॉल मैदान पर खेला था। इस तरह से बर्नबेयू में उन्हें याद किया जाता है: "वह गोल के पीछे थे, खिलाड़ियों को अच्छा करने के
लिए प्रेरित कर रहे थे, वह थकते नहीं थे।" यही कारण है कि वह पिच पर भी आए।

जब टीम सोतेरो आरंगुरेन, टीस या एरिस के जाने के साथ एक पीढ़ी के नवीकरण से गुजर रही थी उस समय उनके साइन होने के बाद टीम को एक नए खून का प्रतिनिधित्व मिला। वह गोंजालेज, पेरिस या हर्नांडेज़ कोरोनाडो के साथ पहुंचे, जिन्होंने हमेशा एक उदाहरण के रूप में उन्हें
देखा। उनकी महत्वाकांक्षा कमाल की थी। वह पिच पर एक नेता थे, जब कोई परिणाम टीम के खिलाफ जा रहा होता तो वह उसे मोड़ देते थे।

मॉन्जार्डिन हमेशा से वहीं होते थे, टीम को खेल में वापस लाने के लिए जोर देते थे और परिणाम को पलट देते थे। बाद की पीढ़ियों के लिए यह उनकी सबसे बड़ी विरासत थी।

इस गैलिशियन फॉरवर्ड ने राष्ट्रीय टीम के साथ चार कैप जीते और खेल के लिए नेशनल डेलिगेशन से स्पोर्ट्स में मेरिट के लिए मेडल प्राप्त किया। 3 नवंबर 1950 को एक दुखद यातायात दुर्घटना में उनकी मृत्यु हो गई।

सम्मान

  • 6 क्षेत्रीय चैंपियनशिप